Menu

कांग्रेस नेता नवजोत सिद्धू ने पाकिस्तान को लेकर दिया बड़ा बयान - मेरा सपना है कि पाकिस्‍तान के साथ अन्‍य रास्‍ते भी खोले जाएं

कांग्रेस नेता नवजोत सिद्धू ने पाकिस्तान को लेकर दिया बड़ा बयान - मेरा सपना है कि पाकिस्‍तान के साथ अन्‍य रास्‍ते भी खोले जाएं
पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू का श्री करतारपुर कॉरिडोर के बाद अब पाकिस्‍तान से संबंध को लेकर नया सपना है। वह चाहते हैं कि फिरोजपुर का हुसैनीवाला बार्डर भी दोनों देशों के लोगों के लिए खोल दिया जाए। उन्‍होंने कहा कि वह इसके लिए प्रयास कर रहे हैं।

बोले- कतारपुर काॅरिडोर की तरह पाकिस्‍तान के साथ अन्‍य मार्ग खोलने का कर रहा हूं प्रयास

वर्ल्‍ड वेटलैंड डे पर हरिके वेटलैंड में हुए वर्ड फेस्टिवल पर बतौर मुख्य मेहमान पहुंचे सिद्धू ने कहा कि करतारपुर काॅरिडोर की बात करते हुए सिद्दू ने कहा कि पाकिस्तान ने अपनी तरफ 45 फीसद काम पूरा कर लिया है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से दोनों देशों की सहमति से करतापुर काॅरिडोर का काम शुरू हुआ है। वह इसी तरह जल्द ही फिरोजपुर का हुसैनीवाला व अमृतसर बार्डर भी आम लोगों के आवागमन के लिए जल्द खोलने का प्रयास कर रहे हैं। यह उनके जीवन का सपना है। उन्‍होंने कहा कि उनका यह भी सपना है कि करतारपुर की 104 एकड़ जमीन जिस पर बाबा नानक खेती करते थे उस जमीन पर फसल बीज कर श्रद्धालुओं को लंगर बरताया जाए।

पाकिस्तान को घडिय़ाल देकर लाएंगे 150 डॉलफिन

इस अवसर पर सिद्धू ने हरिके वेटलैंड विकसित करने के लिए 16 प्वाइंटों पर 150 करोड़ रुपये खर्च किए जाने की घोषणा की। उन्‍होंने कहा कि पाकिस्तान को घड़ियाल देकर वहां से लाएंगे 150 सौ इंडस डाल्फिन लाए जाएंगे। मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने वेटलैंड इंडस डाल्फिन को स्टेट फिश घोषित किया है।

उन्‍होंने कहा कि हरिके वेटलैंड 4100 हेक्टेयर में फैला है। इसके विकास के लिए छह महीने में काम शुरू हो जाएगा। इसे अंतरराष्ट्रीय पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। यहां तीन लाख देसी किक्कर लगाए जाएंगे। वेटलैंड की जलकुंभी खत्म कर कमल व वाटर लिली के पौधे लगाकर इसकी सुंदरता बढ़ाने के साथ ही उसे आय का साधन भी बनाया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि पक्षियों की सुरक्षा के लिए दरिया की कैच फिश को खत्म किया जाएगा। पक्षियों के अड्डों को बचाने के लिए ड्रोन से सर्वे किया जाएगा। सतलुज दरिया के दूषित पानी को साफ करने के लिए ट्रीटमेंट प्लांट लगाए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि हरिके वेटलैंड को कश्मीर की डल झील जैसा बनाएंगे। वेटलैंड के सभी हिस्सों को कवर कर सुरक्षित किया जाएगा। सिद्दू ने कहा कि पक्षियों के अड्डों को बचाने की दिशा में भी कार्य होगा, इसके लिए पक्षियों के प्रवास बाहुल्य हिस्से का ड्रोन सर्वे किया जाएगा। इस पर 50 लाख रुपये खर्च होगें। वेटलैंड में सतलुज दरिया के प्रदूर्षित आ रहे पानी को फिल्टर करने के लिए ट्रीटमेंट प्लांट वह लगाएंगे। पक्षियों व मछलियों के शिकार पर सख्ती से पाबंदी जाएगी।

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *