Menu

उपेंद्र कुशवाहा ने दी 'खून बहाने' की धमकी तो रामविलास पासवान बोले- 'Tit for tat' होगा

उपेंद्र कुशवाहा ने दी \'खून बहाने\' की धमकी तो रामविलास पासवान बोले- \'Tit for tat\' होगा
मतगणना से पहले विपक्ष लगातार सत्ता पक्ष पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में हेरफेर का आरोप लगा रहा है. इसको लेकर सबसे पहले मंगलवार को दिल्ली में पूरे विपक्ष ने चुनाव आयोग से मिलकर शिकायत की. उसी दिन शाम में पटना में महागठबंधन ने इसी मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. इसमें राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के विवादास्पद बयान ने सभी को चौंका दिया. उन्होंने कहा कि वोट की रक्षा के लिए जरूरत पड़ी तो हथियार भी उठाना चाहिए. कुशवाहा के इस बयान पर लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) सुप्रीमो रामविलास पासवान ने प्रतिक्रिया दी है.

बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह के एनडीए के साथी दलों के लिए दिल्‍ली में आयोजित डिनर के बाद केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और रामविलास पासवान मीडिया से बात कर रहे थे. इस दौरान पत्रकारों ने कुशवाहा के बयान को लेकर सवाल पूछा. सवाल का जवाब देते हुए रामविलास पासवान ने कहा, प्रतिक्रिया 'जैसे को तैसा' होगा. साथ ही उन्होंने कहा कि इनकी स्थिति 'खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे' जैसी हो गई है.

रामविलास पासवान ने विपक्ष से पूछा कि जब पंजाब, राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में चुनाव जीते तो ईवीएम गड़बड़ नहीं था? उन्होंने कहा कि जब ये हारने लगते हैं तभी इस तरह की बात करते हैं.

कुशवाहा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बीजेपी पर हमला बोलते कहा था कि चुनाव जीतने के लिए सारे कर्म किए हैं. हर तरह के हथकंडे अपनाए हैं. कुशवाहा ने आगे कहा, "एक्जिट पोल भी उसी रणनीति का हिस्सा है, जिसे मैं सिरे से खारिज करता हूं. हिंदुस्तान में पहली बार रिजल्ट लूट किया जा रहा है. बीजेपी का कुछ भी नहीं चलने वाला है. महागठबंधन की बढ़त है और महागठबंधन बिहार में जीत रहा है. जनता के बीच बीजेपी के खिलाफ आक्रोश है. लोगों का आक्रोश है और सड़कों पर खून बहेगा.

ज्ञात हो कि काराकाट और उजियारपुर से चुनाव लड़ रहे उपेंद्र कुशवाहा ने कहा था, 'प्रसाशन को आगाह करता हूं. महागठबंधन के कार्यकता मतगणना केंद्र के आसपास रहें. ईवीएम मिलने की खबर बहुत जगह से आ रही है. जनता चुप नहीं बैठेगी. जननायक कर्पूरी के समय बूथ लूट की घटना होती रही है. कर्पूरी जी कहते थे बूथ लूट को बचाने के लिए हथियार भी उठाने पड़े तो उठाना चाहिए

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *