Menu

फेंका था मंदिर का प्रसाद, खुद को बनते थे महाराज, जनता ने बजा दिया बैंड, गुना से हारे ज्योतिरादित्य

फेंका था मंदिर का प्रसाद, खुद को बनते थे महाराज, जनता ने बजा दिया बैंड, गुना से हारे ज्योतिरादित्य
लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आ चुके है और आज देश जीता है, राष्ट्रवाद जीता है वहीँ आज सेकुलरिज्म, वामपंथ, नक्सलवाद, आतंकवाद, परिवारवाद, और अहंकार की हार हुई है

मध्य प्रदेश की गुना सीट को बीजेपी ने जीत लिया है, इस सीट पर ज्योतिरादित्य सिंधिया और उस से पहले उनके खानदान के लोग लड़ते आये थे गुना को सिंधिया खानदान अपनी जागीर ही समझता था, और ज्योतिरादित्य सिंधिया को आज भी खुद को महाराज कहलवाना पसंद करते है 

ज्योतिरादित्य सिंधिया गुना में काफी लम्बे समय से जीत हांसिल करते हुए आये थे, गुना की स्तिथि अमेठी जैसी ही है, एकदम पिछड़ा हुआ पर अहंकार में मदहोश नेताओं को इसकी कहाँ परवाह थी

पर इस बार जनता ने ज्योतिरादित्य सिंधिया का गेम ओवर कर दिया, खुद को महाराज समझकर चलने वाले इस नेता को लोगो ने गुना में हरा दिया

बीजेपी के कृष्ण पाल सिंह ने गुना सीट को प्रचंड रूप से जीत लिया है, ज्योतिरादित्य सिंधिया की गुना में बुरी हार हुई है

ज्योतिरादित्य सिंधिया वही नेता है जिन्होंने मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव अभियान के दौरान एक मंदिर से मिले प्रसाद रूपी नारियल को गाडी में बैठते ही दरवाजे से फेंक दिया था

ज्योतिरादित्य सिंधिया गुना से सांसद थे और संसद में जाकर बैठते थे, गुना की जनता ने अब संसद से ज्योतिरादित्य सिंधिया को उखाड़ फेंका है


Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *