Menu

प. बंगाल: छात्र फीस बढ़ने के खिलाफ कर रहे प्रदर्शन, 24 घंटे से विश्वविद्यालय में बंद हैं शिक्षक

प. बंगाल: छात्र फीस बढ़ने के खिलाफ कर रहे प्रदर्शन, 24 घंटे से विश्वविद्यालय में बंद हैं शिक्षक
कोलकाता, एएनआई। पश्चिम बंगाल में विश्व भारती विश्वविद्यालय के छात्र बीरभूम में प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्र फीस में हुए 20 फीसदी इजाफे के खिलाफ हैं। मंगलवार को उन्होंने कथित तौर पर विश्वविद्यालय का गेट लॉक कर दिया था, जिसके बाद से अभी तक 200 शिक्षक और अन्य स्टाफ अंदर बंद हैं। विश्वविद्यालय के वीसी का कहना है कि छात्रों के व्यवहार से दुखी हूं। कल हमने पांच घंटे तक उनके साथ चर्चा की थी।

प. बंगाल: छात्र फीस बढ़ने के खिलाफ कर रहे प्रदर्शन, 24 घंटे से विश्वविद्यालय में बंद हैं शिक्षक




Publish Date:Wed, 22 May 2019 12:24 PM (IST)

प. बंगाल: छात्र फीस बढ़ने के खिलाफ कर रहे प्रदर्शन, 24 घंटे से विश्वविद्यालय में बंद हैं शिक्षक

पश्चिम बंगाल में विश्व भारती विश्वविद्यालय के छात्र बीरभूम में प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्र फीस में हुए 20 फीसदी इजाफे के खिलाफ हैं।

कोलकाता, एएनआई। पश्चिम बंगाल में विश्व भारती विश्वविद्यालय के छात्र बीरभूम में प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्र फीस में हुए 20 फीसदी इजाफे के खिलाफ हैं। मंगलवार को उन्होंने कथित तौर पर विश्वविद्यालय का गेट लॉक कर दिया था, जिसके बाद से अभी तक 200 शिक्षक और अन्य स्टाफ अंदर बंद हैं। विश्वविद्यालय के वीसी का कहना है कि छात्रों के व्यवहार से दुखी हूं। कल हमने पांच घंटे तक उनके साथ चर्चा की थी।

जानकारी हो कि बोलपुर स्थित विश्वभारती विवि में फीस बढ़ाने के खिलाफ मंगलवार रात को भी विद्यार्थियों ने जमकर हंगामा किया था। पिछले दिनों प्रदर्शन कर रहे छात्रों का कहना था कि वे इस मामले पर कुलपति से मुलाकात कर और अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपेेंगे। कुलपति अगर नहीं मानें तो उनका आंदोलन और तेज होगा।

छात्रों ने बताया कि पिछले साल स्‍नातक का शुल्‍क एक हजार व स्‍नातकोत्‍तर का शुल्‍क 1500 रुपये था अब यह बढ़कर दो हजार से तीन हजार पहुंच गया है कुछ पाठयक्रमों में छह हजार तक फीस बढ़ गई है।

विश्वविद्यालय में पढ़ाए जाने वाले सोशल वर्क, एग्रीकल्‍चर, बीपीएड, बीएड व एमपीएड, एमएड सहित कई कोर्स के शुल्‍क में एक हजार से दस हजार रुपये तक की बढ़ोत्तरी की गई है। छात्रों ने बताया कि विश्वविद्यालय में अधिसूचना जारी होने के बाद हींं छात्रों में रोष बढ़ गया था।


Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *