Menu

बिजनौर: मदरसे में चल रहा अवैध हथियारों की सप्लाई का खेल, संचालक मो. साजिद समेत 6 हिरासत में

बिजनौर: मदरसे में चल रहा अवैध हथियारों की सप्लाई का खेल, संचालक मो. साजिद समेत 6 हिरासत में
उत्तर प्रदेश के बिजनौर (Bijnor) जिले के एक मदरसे से बड़ा ही सनसनीखेज मामला सामने आया है. जहां शेरकोट पुलिस (Sherkot Police) ने दारुल कुरान हमीद मदरसे (Darul Quran Hameed Madarsa) में हथियारों को सप्लाई करने के खेल का खुलासा किया है. शेरकोट पुलिस (Sherkot Police) ने मदरसे से बड़ी मात्रा में हथियारों का जखीरा बरामद किया है. हथियार सप्लाई करने में इस्तेमाल होने वाली स्विफ्ट डिजायर गाड़ी भी मदरसे से मिली है, गाड़ी पर शिव सेना लिखा है. मदरसे में हिकमत की आड़ में हथियार सप्लाई किए जाते थे. पुलिस ने मदरसे से मदरसा संचालक समेत 6 आरोपियों को पकड़ा है, सभी से पूछताछ की जा रही है.

बुधवार को बिजनौर (Bijnor) जिले में पुलिस टीम के साथ सीओ अफजलगढ़ कृपाशंकर कन्नौजिया ने शेरकोट में कंदला रोड स्थित मदरसा दारुल कुरान हमीद (Darul Quran Hameed Madarsa) में छापेमारी की. पुलिस को छानबीन के दौरान मदरसे से भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए. पुलिस को मदरसे से 36 बोर का एक पिस्टल, 8 कारतूस, 315 बोर के 3 तमंचे व 32 कारतूस, 32 बोर का एक रिवॉल्वर व 16 कारतूस बरामद किए. इसके अलावा मदरसे से एक स्विफ्ट डिजायर गाड़ी भी मिली है, गाड़ी पर शिव सेना लिखा है.

शेरकोट पुलिस ने मदरसे से स्योहारा के मोहल्ला शेखान निवासी फईम अहमद, शेरकोट निवासी साजिद, धामपुर के मोहल्ला अफगानान निवासी जफर इस्लाम, अफजलगढ़ के गांव फतेहपुर जमाल निवासी सिकंदर अली, बिहार निवासी साबिर व शेरकोट निवासी अजीजुर्रहमान को दबोचा है. पुलिस सभी आरोपियों से पूछताछ में जुटी है.

पुलिस का कहना है कि आरोपी मदरसे से हथियार सप्लाई करते थे. हथियार सप्लाई करने में शिव सेना लिखी गाड़ी का इस्तेमाल किया जाता था. मदरसे में पुलिस की छापेमारी से हड़कंप मचा रहा. पुलिस के मुताबिक मदरसे में हिकमत (हकीम द्वारा दवा देने) का होता है. हथियार खरीदने वाले ग्राहक मरीज बनकर ही मदरसे में आते थे. हिकमत की आड़ में हथियार बेचने व सप्लाई करने का काम मदरसे से किया जा रहा था. किसी को शक भी नहीं होता था कि दवाई लेने के नाम पर मदरसे में आया कोई व्यक्ति हथियार लेकर जा रहा है. मो. साजिद मदरसे का संचालक बताया जा रहा है.

मदरसे में पकड़ा गया साबिर बिहार का रहने वाला है. पुलिस का मानना है कि वह बिहार से हथियार लाकर क्षेत्र में सप्लाई करता था. किसी को उस पर शक न हो इसलिए गाड़ी पर शिव सेना लिख रखा था. हथियार भी मदरसे में इसलिए छिपाए गए थे ताकि किसी को उसके काम की भनक न लगे. पुलिस का मानना है कि गैर जिलों में वारदातों को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी मदरसे में आकर छिप जाते थे.

दारुल कुरान हमीद मदरसे में 25 बच्चे पढ़ते हैं. मदरसे पर छापेमारी से हड़कंप मच गया, आसपास लोगों की भीड़ जमा हो गई. हर कोई हैरान था कि मदरसे से हथियारों की सप्लाई का खेल चल रहा था. पुलिस का कहना है कि आरिफ तांत्रिक का काम भी करता है. बताया गया है कि मदरसे में एक सेफ में दवाइयों के डिब्बे रखे थे, इन्हीं में से हथियार मिले हैं. सीओ कृपा शंकर कनौजिया का कहना है कि पुलिस को सूचना मिली थी मदरसे में कुछ बाहरी लोगों का आना जाना है, इसी आधार पर छापेमारी की गई है.


Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *